Skip to content

मेरा प्रिय खेल पर निबंध – Essay on my Favorite Sport

खेल कई प्रकार के होते हैं। कमरे के अंदर खेले जाने वाले खेल को इंडोर गेम्स कहते हैं। और बाहर खेले जाने वाले खेल को आउटडोर खेल कहते हैं। अलग-अलग प्रकार के खेल हमारे शरीर को महत्वपूर्ण है। परंतु अपनी रुचि एवं शारीरिक क्षमता के अनुकूल है। अपने मनपसंद खेल का चयन करना चाहिए। खेलकूद आज विभिन्न देशों के मध्य संस्कृतिक मेलजोल बढ़ाने का उत्तम माध्यम है। मेरा प्रिय खेल क्रिकेट है। आधुनिक युग में क्रिकेट को अंतरराष्ट्रीय महत्व प्राप्त है। भारत में या खेल सर्वाधिक खेले जाने वाले खेलों में से एक है। इस खेल से छोटे बच्चे और बड़े आदि सभी को दिए हैं।

क्रिकेट का जन्म इंग्लैंड में हुआ था। इंग्लैंड से ही आखिर डोलिया पहुंचा फिर उसके बाद या अन्य देशों में भी खेला जाने दो ना या खेल नियम के अनुसार सर्वप्रथम 1850 ईसवी मैं गिलफोर्ड नामक विद्यालय में खेला गया था। क्रिकेट का पहला टेस्ट मैच 1877 ईस्वी में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न शहर में खेला गया था। भारत ने पहला टेस्ट मैच इंग्लैंड के विरुद्ध सन 1932 में खेला था टेस्ट मैच 5 दिनों का होता है। जो दो पारियों में खेला जाता है। टेस्ट मैच के अलावा का खेल तीन दिवसीय चार दिवसीय एकदिवसीय में होता है। आज के युग में एक दिवसीय क्रिकेट तथा 20 मैच लोगों को अत्यधिक पसंद है। 20 मैच तीन-चार घंटे में ही समाप्त हो जाता है।

क्रिकेट बड़े से बड़े अंडाकार मैदान में खेला जाता है। क्रिकेट मैदान के मध्य में पीच यह विकेट स्थान इस खेल का केंद्र होता है। पिचके दोनों तरफ 3_3 डंडे या विकेट गाड़ दिए जाते हैं। क्रिकेट खेल में दो टीम होती है। सभी टीम में 11_ 11 खिलाड़ी होते हैं। खेल शुरू होने पर एक टीम के प्लेयर बल्लेबाजी करते हैं। तथा दूसरे टीम के 11 प्लेयर मैदान में क्षेत्ररक्षण करते हैं। जीत व हार का फैसला रन के आधार पर किया जाता है। खेल के निर्णायक को अंपायर कहा जाता है। जो खेल के मैदान में विकेट के पीछे खड़ा होता है।

क्रिकेट के आरंभ में राजा महाराजा का खेल कहा जाता था। वह अपने मन बहला ओं के लिए यह खेल खेलते थे स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद हॉकि को राष्ट्रीय खेल का दर्जा दिया गया। हॉकी के साथ-साथ क्रिकेट खेल भी लोकप्रिय होता चला गया। इस खेल में समय और धन अधिक लगता है। क्रिकेट फिर भी आज गांव शहर दोनों जगह अपनी प्रसिद्धि बना चुका है। क्रिकेट खेल की लोकप्रियता इस बात से पता चलता है। कि जहां भी या खेल खेला जाता है। वहां लोगों की भीड़ जमा हो जाती है।

क्रिकेट का खेल सबसे ज्यादा लोकप्रिय हैं। परंतु इस खेल में कुछ कमियां है। क्रिकेट मैच के दौरान सारे काम खत्म हो जाते हैं। लोग अपने कामों को छोड़कर रन व विकेट की चर्चा करने लगते हैं । कुछ लोग अपने लोग रेडियो पर अपने कान को चिपकाए रहते हैं। तथा कुछ लोग अपने टेलीविजन पर अपनी नजरों को गड़ाए रहते हैं। इससे राष्ट्रीय उत्पादन पर असर पड़ता है।

क्रिकेट का बुखार थमने का नाम नहीं ले रहा है। यह खेल भारत की पहचान से जुड़ गया है। क्रिकेट को लेकर लोग मानसिक तौर पर जुनून की हद पार करने लगते हैं। क्रिकेट आमतौर पर लोगों का धर्म बन गया है। क्रिकेट खेल मैं मिली हार से लोग मायूस हो जाते हैं। तथा क्रिकेट खेल मैं मिली जीत से लोग नाचने कूदने लगते हैं। क्रिकेट खेल में धान और आनंद का संगम है। क्रिकेट खेल मेरा नहीं पूरे भारत वासियों का सबसे पसंदीदा खेल है।

मेरा प्रिय खेल पर निबंध 10 पंक्ति

  1. मेरा प्रिय खेल क्रिकेट है।
  2. खेलने से हमारा शरीर स्वस्त रहती है।
  3. खेल-कूद से हमारे दिमाग की शक्ति बढ़ती है।
  4. खेल-कूद से हम कई प्रकार की बीमारियो से बच सकते है।
  5. खेल सीछा का एक अंग है।
  6. पद्धने के साथ-साथ हमे खेल कूद पर भी मन लगाना चाहिए।
  7. क्रिकेट मे 2 टीम होती है जिसमे 11,11 प्लेयर होते है।
  8. क्रिकेट का खेल कई प्रकार का होता है।
  9. हमारे गाव मे क्रिकेट सबसे जादा खेला जाता है।
  10. सक्रिय और चुस्त मानव के सरीर को खेल बनाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.