भारतीय किसान पर निबंध – Essay on Indian Farmer

किसान पर निबंध

प्रस्तावना

भारत देश कृषि प्रधान देश है। भारत का किसान अपने देश के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसीलिए देश का सैनिक किसान को भी माना जाता है। जैसे सैनिक अपने देश की रक्षा बॉर्डर पर करते हैं। जिससे कि कोई भी बॉर्डर क्रश न कर सके और किसी भी व्यक्ति को नुकसान न पहुंचा सके उसी तरह भारतीय किसान अपने देश के लिए अनाज गाता है। जिससे कि उसके देश की आर्थिक स्थिति में सुधार आए और उसके देश का कोई भी नागरिक भूखा ना सोये चाहे वह सैनिक हो या कोई आम व्यक्ति या कोई नेता हो इसीलिए किसान हमारे समाज के रीढ़ की हड्डी है। हम सभी किसान की वजह से भूखा नहीं सोते अगर किसान खेती करना बंद कर दे तो हम सभी को भूखा सोना पड़ेगा।

किसान पर निर्भरता

हमारे पृथ्वी पर जितने भी देश हैं। चाहे वह कोई विकसित देशों या कोई गरीब देशों सभी देशों में किसान एक महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है। जिसके ऊपर उसके देश के सभी नागरिक निर्भर रहते हैं। इसीलिए किसान को पूरी दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण व्यक्ति में से एक माना जाता है जिसके ऊपर हम सभी निर्भर है।

हमारे जीवन की आवश्यकता

किसान को सभी देशों में एक महत्वपूर्ण व्यक्ति माना जाता है। भारत देश को  कृषि प्रधान देश कहा जाता है। इसीलिए भारत देश में किसान को बहुत महत्व दर्जा दिया जाता है। किसान की वजह से हम सभी देशवासियों को दो वक्त का भोजन मिलता है। जोकि हर एक मनुष्य को जीवन जीने के लिए आवश्यक होता है इसीलिए किसान हर एक देश में सबसे महत्वपूर्ण है।

किसान के प्रकार

सभी देश में किसान को एक महत्वपूर्ण दर्जा दिया जाता है। उसकी वजह से उस देश के सभी नागरिक को दो वक्त का खाना मिलता है। लेकिन किसान कई प्रकार के होते हैं। अलग-अलग प्रकार के किसान अलग-अलग प्रकार की खेती करते हैं।

जिसमें से कुछ किसान गेहूं चावल और जौ की खेती करते हैं। जोकि देश के हर एक घर के लिए जरूरी होता है। इन किसानों को उनके देश में एक मुख्य दर्जा प्राप्त होता है और दूसरे को किसान हैं। जो सालों और सब्जियों की खेती करते हैं। ऐसे ही और भी किसान हैं। जो अलग-अलग प्रकार की खेती करते हैं।

देश की अर्थव्यवस्था में किसान का योगदान

भारत देश की अर्थव्यवस्था में करीब 17% तक का योगदान किसानों का होता है। भारतीय अर्थव्यवस्था में सभी चीजों के मुकाबले सबसे ज्यादा किसानों का यह योगदान है। अपने देश का किसान उसके कई सारी जरूरतें से दूर है। इतना योगदान देने के बावजूद भी

किसान की हालत

सभी देश के पूरे आबादी के लिए महत्वपूर्ण व्यक्ति किसान है। इस महत्वपूर्ण व्यक्ति को देश की रीढ़ की हड्डी भी कहा जाता है। जिसकी वजह से हम सभी देशवासी अपना जीवन जी रहे हैं। भारत देश जिन किसानों की वजह से कृषि प्रधान देश कहलाता है। जिन किसानों का अपने देश के अर्थव्यवस्था में प्रगति 17% तक योगदान रहता है। आज मुझे किसानों का बहुत ही बुरा हाल है।

किसान आत्महत्या की खबरें हम अखबार में साल के 12 महीने सुनते रहते हैं। जिसे सभी देशों का महत्वपूर्ण हिस्सा कहा जाता है। इतना बड़ा योगदान देने वाला किसान आज के समय में बहुत ही कठिन जीवन जी रहा है।इसका सबसे बड़ा कारण है। उनके पास पैसे ना होना हम सभी देशवासियों के लिए किसान खेती तो करता है। लेकिन किसान को उसके मेहनत की तरह उसको इतना धन नहीं मिल पाता है।

यही कारण है कि किसान अपनी जरूरतों को कभी पूरा नहीं कर पाता है। कभी-कभी ऐसा भी होता है। कि किसान के घर में एक तो वक्त का खाना भी नहीं बनता है। यही कारण है। कि किसान अपने बच्चों को स्कूल भी नहीं भेजता जिससे कि किसान के बच्चे पढ़ नहीं पाते इन सभी मुसीबतों को देखते हुए किसान आत्महत्या कर लेते हैं।

निष्कर्ष

भारत देश को कृषि प्रधान देश भी कहा जाता है। जहां पर खेती देश का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। लेकिन भारत देश में खेती करने के लिए बहुत ज्यादा परिश्रम करना होता है। लेकिन किसानों को उनके अनाजों पर कम धन मिलने की वजह से किसान को गरीबी उठानी पड़ती है। जिस कारण किसान अपनी सभी जरूरतों को पूरा नहीं कर पाता है। इसीलिए किसान आत्महत्या में वृद्धि हो रही है।जोकि भारत देश के लिए बहुत ही ज्यादा गंभीर बात है। इसीलिए भारतीय सरकार को किसानों के लिए कुछ योजनाएं  बनानी चाहिए। जिससे आगे चलकर किस कोई भी किसान गरीबी से आत्महत्या ना करें।

किसान पर निबंध 10 पंक्ति

  1. खेतों में काम करने वाले व्यक्ति को किसान कहा जाता है।
  2. भारत में किसानों को कृषक व खेतीहार भी कहा जाता है।
  3. किसान का मुख्य उद्देश्य अनाज व सब्जियों को उगाना रहता है।
  4. भारत की जनसंख्या का 50% भाग किसान है।
  5. भारत में किसान अपनी जमीन पर खेती करते हैं।
  6. किसान का जीवन बहुत ही कठिनाइयों से भरा होता है।
  7. देश की अर्थव्यवस्था में किसान की सबसे अलग विशेषता है।
  8. किसान को अन्नदाता भी कहा जाता है।
  9. भारत में किसान को ईश्वर भी माना जाता है।
  10. भारत में किसान को ईश्वर भी माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *