क्रिसमस पर निबंध- Essay on christmas in hindi

Published by Ankit Kumar on

essay on christmas in hindi

प्रस्तावना

क्रिसमस ईसाइयों का त्यौहार होता है तथा इसे सभी समुदाय के लोग मनाते हैं क्रिसमस त्योहार 25 दिसंबर को मनाया जाता है तथा विश्व में सभी देशों में मनाया जाता है क्रिसमस पूरे विश्व में अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है

क्रिसमस पर निबंध हिंदी में

क्रिसमस ईसाइयों का त्यौहार है। परंतु इसे सभी समुदाय के लोग पूरे विश्व में मनाते हैं। पूरे विश्व में क्रिसमस त्योहार 25 दिसंबर को मनाया जाता है। तथा पूरे विश्व में इसे अलग-अलग दिनों में मनाते हैं। भारत में क्रिसमस 3 दिनों तक मनाया जाता है। क्रिसमस त्यौहार के दिनदिन क्रिसमस पेड़ को सजाया जाता है। क्रिसमस के दिन बच्चों तथा बड़े आदि बड़े ही खुशी से इस त्यौहार को मनाते हैं।

क्रिसमस त्योहार के दिन बच्चे बड़े ही खुश रहते हैं। क्योंकि लाल व सफेद कपड़ों में सैंटा क्लॉस बच्चों के लिए उपहार वह खिलौने चॉकलेट आदि लेकर आते हैं। क्रिसमस तोहार को भगवान यीशु मसीह के जन्म के रूप में मनाया जाता है। क्रिसमस त्योहार के दिन पूरे विश्व में आपको क्रिसमस के पेड़ दूर से ही सजे हुए दिखाई देंगे। भारत में क्रिसमस त्योहार को 25 दिसंबर को मनाया जाता है। पूरे विश्व में क्रिसमस त्योहार आनंद व खुशी का त्यौहार होता है। क्रिसमस त्योहार के दिन लोग अपने घर एक घरों को फूलों, लाइट, स्टार आज से अच्छे से सजाते हैं।

क्रिसमस पर 10 वाक्य हिंदी में [ 10 sentences on christmas in hind

क्रिसमस ईसाई धर्म का एक मुख्य त्योहार है। यह ईसाइयों का ऐसा त्यौहार है। जोकि पूरे विश्व में मनाया जाता है तथा सभी समुदाय के लोग मनाते हैं। क्रिसमस कई स्थानों पर अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है। भगवान यीशु मसीह के जन्म के रूप में यह त्यौहार उत्सव के रूप में मनाया जाता है। तथा भारत में यह त्यौहार 3 दिनों तक मनाया जाता है।

यीशु मसीह का जन्म

आज से कई हजारों साल पहले मरियम को दर्शन घोग्रियन नामक एक स्वर्ग दूत ने  और कहा कि तुम एक पवित्र आत्मा को अपने गर्भ से जन्म दोगी और यह भी कहा उसका नाम यीशु रखना।

उस समय युसूफ की मंगेतर मरियम थी। इस खबर को सुनते हैं बदनामी के डर से यूसुफ ने मरियम को छोड़ने का मन बनाया। यूसुफ को स्वर्ग दूध ने उसके विचारों को जानकर यह बताया। की मरियम पवित्र आत्मा को अपने गर्भ से जन्म देगी। और उसे अपने घर लाने से ना डर स्वर्ग स्वर्ग दूत की बात सुनकर मरियम से शादी करके यूसुफ ने अपने घर ले आया।

रोमन साम्राज्य का हिस्सा मात्र था। की जनगणना का समय मरियम की गर्भावस्था के दौरान आ गया। और नियम के अनुसार उसका नाम लिखवाने जेरूसलम के बेतलहम नगर को चला गया। उन्होंने एक दो साले ने शरण ली सराय में जगह न मिलने के कारण मरियम के जनने के दिन पूरे हुए और उन्होंने एक बालक को जन्म दिया जिसका ना उन्होंने यीशु रखा है।

  • यीशु मसीह का जन्म ( ल. 4 BC ) मे हुआ था
  • ल. AD 30/33 ( Aged 33-36 ) जेरूसलम, यहूदा रोमन साम्राज्य
  • मृत्यु का कारण ::- क्रूस पर चढ़ाए जाने से
  • ग्रह स्थान ::- नसरत

क्रिसमस पर 10 लाइनें

  1. क्रिसमस ईसाइयों का एक प्रमुख त्यौहार है।
  2. क्रिसमस त्योहार को उत्सव के रूप में पूरे विश्व में मनाया जाता है।
  3. क्रिसमस यीशु मसीह के जन्म के रूप में मनाया जाता है।
  4. प्रतिवर्ष 25 दिसंबर को क्रिसमस त्योहार मनाया जाता है।
  5. क्रिसमस धार्मिक त्योहार है।
  6. क्रिसमस त्यौहार को बड़े उत्साह के साथ पूरे विश्व में मनाया जाता है।
  7. भारत में क्रिसमस त्योहार 3 दिनों तक मनाया जाता है।
  8. पूरा विश्व में क्रिसमस को अलग-अलग दिनों में मनाया जाता है।
  9. क्रिसमस त्योहार के दिन पूरे विश्व में सभी देशों में छुट्टी रहती है।
  10. क्रिसमस त्योहार के दिन आरोकेरियापौधे को खिलौनों से सजाते हैं।

कुछ प्रश्न

1

क्रिसमस (Test)

1 / 4

यीशु मसीह का ग्रह स्थान इनमें से कौन सा है?

2 / 4

क्रिसमस कब मनाया जाता है?

3 / 4

यीशु मसीह की मृत्यु कब हुई थी?

4 / 4

यीशु मसीह का जन्म कब हुआ था?

Your score is

The average score is 25%

0%


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *