अ से पर्यावाची शब्द

Published by Adarsh Kumar on

अमृत – मधु ,सोम,अमिय, सुधा , अमी।
अरण्य- कानन, वन ,विपिन, जंगल।
अनुपम -अद्भुत ,अनूठा,अनोखा ,अतुल ,अद्वितीय।
अश्व– घोटक, तुरंग,हय ,घोड़ा।
असुर-निशाचर, राक्षस , दानव, देवारि।
अग्नि – पावक ,अनल,आग ,दव।
अचल– पर्वत, स्थिर,नग ,गिरी , महीधर।

अदृश्य– गायब ,अस्त,लुप्त ,अंतर्ध्यान।
अनिवार्य -जरूरी ,आवश्यक, अपरिहार्य ,
असभ्य– अशिष्ट ,गवार ,बर्बर।
आंख– नेत्र ,दृष्टि, नयन,लोचन , अम्बल।
आम-सहकार ,अमृतफल,रसाल, आम्र।
आपत्ति-विपदा ,मुसीबत ,आपदा ,विपत्ति।
आनंद– आमोद, प्रमोद,प्रसन्नता, हर्ष।
आकाशगंगा -सूर्य, नदी ,नभगंगा,मंदाकिनी ,स्वर्गनदी।
आयुष्मान– शतायु ,दीर्घायु ,चिरायु ,चिरंजीवी।
आज्ञा– मंजूरी ,सहमति ,अनुमति ,स्वीकृति ,इजाजत।
आदि -आरंभिक, पहला ,प्रथम, शुरू का ।
आहार– खाद्य वस्तु ,भोजन ,खाना ,भोज्य सामग्री।
आकाश -व्योम, गगन,अंबर ,अनन्त।
आलोचना -टीका ,समालोचना ,समीक्षा, टिप्पणी।
आदित्य– दिवाकर ,सूर्य ,दिनकर, प्रभाकर।
आभूषण– अलंकार, जेवर,भूषण, आभरण, गहना।
आंगन -बगर ,प्रांगण।
अतिथि-आगंतुक ,अभ्यागत , मेहमान ,पाहुन ,।
अप्सरा -दिव्यांगना ,सुरसुंदरी ,देवांगना, देवबाला।
अपमान -अनादर ,बेज्जती ,अवमान ,तिरस्कार ,उपेक्षा।
अर्जुन -भारत ,धनंजय ,पार्थ ,कौंतेय।
अधिकार– सामर्थ्य ,क्षमता ,शक्ति, दावा ,हक।
अंगूठी -मुद्रा ,मुद्रिका, अंगुलिका ।
अज्ञानी -मूढ़,अनजान ,मूर्ख,अनभिज्ञ।
अमर -अनश्वर ,नित्य ,अक्षय।
अधर-ओष्ठ,ओठ, रदपट।

ओज -बल, जोर ,पराक्रम, ताकत ।
ओस– हिमकर,तुषार ,हिमबिन्दु।


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *